Home old 251 रूपये में मोबाइल बेचने वाला मोहित गोयल फिर से हुआ गिरफ्तार,...

251 रूपये में मोबाइल बेचने वाला मोहित गोयल फिर से हुआ गिरफ्तार, जानिए अब किस मामले में फंसा

पांच साल पहले फ्रीडम स्कीम के जरिए 251 रुपए में स्मार्टफोन देने की स्कीम लाकर सुर्खियों में आए मोहित गोयल को पुलि’स ने एक बार फिर गिरफ्ता’र कर लिया है।

दिल्ली पुलिस ने एक दुष्क’र्म पी’ड़िता को कथित तौ’र पर एक साल तक ध’मकी देने के आरो’प में मोहित समेत तीन लोगों को गिरफ्ता’र किया है। मोहित के अलावा जिन दो और आरो’पियों को गिरफ्ता’र किया गया है, उनमें सुमित यादव और विनीत कुमार शामिल है।

पुलिस के मुताबिक, मोहित गोयल ने रिंगिंग बेल्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी शुरू की थी और केंद्र सरकार के डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत मात्र 251 रुपए में स्मार्टफोन लॉन्च करने की घोषणा की थी।

इन फोन का नाम Freedom 251 रखा गया था। मोहित पर इस मामले में धोखा’धड़ी से जुड़े 48 केस दर्ज हैं। उसे गिरफ्ता’र भी किया गया था और वो फिलहाल जमा’नत पर था। लेकिन एक बार फिर मोहित की गिरफ्तारी हुई है। इस बार मोहित पर रे’प पी’ड़िता को ध’मका’ने का आ’रोप लगा है।

दरअसल मोहित गोयल समेत तीनों गिर’फ्तार किए गए आरोप रेप आरोपियों से बदला लेना चाहते थे। इसलिए उन्होंने रे’प पीड़ि’ताओं को रे’पि’स्ट बनकर धम’काया।

कोर्ट के निर्देश के बाद पिछले साल ही ये मामला दिल्ली पुलिस की क्राइ’म ब्रांच को सौंपा गया था।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक यह मामला अगस्त 2020 में सामने आया, जब द्वारका में एक व्यक्ति की ओर से कथित रूप से बलात्कार की शिकार एक महिला ने शिकायत के साथ पुलिस से संपर्क किया और आरोप लगाया कि आरोपी उसे गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दे रहा हैं।

सितंबर 2020 के महीने में पीड़िता जब सिविल लाइंस मेट्रो के पास थी तभी उसे एक शख्स ने पकड़ लिया और उसे केस वापस लेने के लिए धम’की दी।

पीड़ि’ता के मुताबिक शक्स वही था जो फोन पर उसे धम’की देता था। इस मामले में सिविल लाइन थाने में भी गवाह को ध’मकी देने के आ’रोप में एक के’स दर्ज किया गया था। मामले में सुमित यादव नाम का एक गवाह भी मौजूद था।

Previous articleइस तरह से किसी भी खिलाड़ी को आपने कभी क्लीन बोल्ड होते हुए नहीं देखा होगा, देखें वायरल विडियो
Next articleबिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने ‘राम’ को बताया काल्पनिक चरित्र, कहा: उनसे हजार गुना बड़े…’