बालों की रूसी, पेट दर्द, भूख न लगना, कमर दर्द, जोड़ों में दर्द, पौरुष शक्ति बढ़ाने, मोटापा, किडनी रोग, शुगर, कब्ज, कोलेस्ट्रॉल, पाचन तंत्र, आदि के लिए वरदान है मेथी का सेवन..

loading...

इस पोस्ट में हम आपके लिए मेथी के चमत्कारी फायदों के बारे में जानकारी लेकर आये हैं जिसके सेवन से बालों की रूसी, पेट दर्द, भूख न लगना, कमर दर्द, जोड़ों में दर्द,पौरुष शक्ति, मोटापा, किडनी रोग, शुगर, कब्ज, कोलेस्ट्रॉल, पाचन तंत्र, आदि समस्याएं खत्म हो जाती है। सबसे पहले मेथी के बारे में जान लेते हैं। मेथी की खेती लगभग सभी प्रदेशों में की जाती है। मेथी के पत्तों से सब्जी बनायी जाती है। इसके बीजों का उपयोग आहार के लिए विभिन्न व्यंजनों में तथा औषधि के रूप में बहुत अधिक किया जाता है। मेथी के फूल एवं फल जनवरी से मार्च के महीनों में लगते हैं। मेथी के पौधे एक फुट ऊंचे होते हैं। इसके पत्ते छोटे और गोल-गोल होते हैं। मेथी के दाने को मेथी दाना कहते हैं। यह जगंलों में भी पाई जाती है। जंगलों में पायी जाने वाली मेथी कम गुण वाली होती है।

राजस्थान में मेथी के दानों की सब्जी बनाई जाती है, सब्जी के अलावा मेथी के पत्तों से ढोकले, मुठिए और गोटे भी बनाये जाते हैं। कुछ लोग मूंग और मेथी के दानों का मिश्रित साग बनाते हैं। इसके अलावा कच्चे आम के टुकड़े करके उसमें पिसी हुई मेथी और अन्य मसाले मिलाकर अचार बनाये जाते हैं। यह अचार स्वादिष्ट और गुणकारी होता है। सर्दी के मौसम में मेथी ज्यादातर सभी घरों में सेवन की जाती है। मेथी में अनेक प्रभावशाली फायटो-नुट्रिएंट्स के साथ-साथ लौह, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, मैंगनीज एवं ताम्बे जैसे खनिज भी उच्च मात्रा में पाए जाते हैं। इसके अलावा इसमें विटामिन बी 6 भी पाया जाता है। मेथी के बीज में प्रभावी रोगाणुरोधी, एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, मधुमेह विरोधी और एंटीवायरल गुण पाएं जाते हैं। मैथी दाना सुगंध और स्वाद बढाने के लिए मसाले के रूप में हर घर में काम लिया जाता है। मैथी दाना पानी में उबालकर उसका पानी हल्का गरम रहने पर पीना लाभकारी होता है। भीगे उबले मैथी दानों को भी खाया जाये, मैथी में टस तत्व होता है जो गुणों मे मछली के तेल के समान होता है। मैथी में लेसीथीन तत्व होता हैं जो मस्तिष्क की कमजोरी को दूर करता है।

आइये जानते हैं मेथी के चमत्कारी फायदों के बारे में:-

1.कब्ज को दूर करे:-

2 चम्मच दाना मेथी को पानी के साथ लेने पर यह पेट की आंतों को अन्दर से गीला करके, मुलायम बनाकर, रगड़कर जमे हुए मल को निकालेगी और मल की गांठों को बनने से रोककर पेट को साफ करती है। जैसा कि आपको पता होगा कि आंतों की कमजोरी से पेट में कब्ज बनती है, इसलिए लिवर को मजबूत बनाने और रोग मुक्त करने के लिए 1-1 चम्मच मेथी पाउडर पानी के साथ कुछ दिनों तक लगातार सेवन करने से कब्ज में राहत मिलती है।

2.शुगर के लिए:-

मेथीदाना को खाने से शुगर को कंट्रोल करने में बहुत मदद मिलती है। इसको खाने से पेशाब में सुगर की मात्रा कम हो जाती है। इसमे मोजूद प्राकृतिक फायबर के कारण तथा इन्सुलिन पर मेथीदाना के उपयोग से पड़ने वाले प्रभाव से शुगर में यह बहुत फायदेमंद साबित होता है।

3.बालों की रूसी दूर करे:-

बालों से रूसी खत्म करने के लिए नहाने के आधा घंटे के पहले मेथी को पानी में पीसकर सिर पर लेप करने से रूसी में कमी होती है। इसके अलावा नारियल के तेल में मेथी के पिसे हुए चूर्ण को उबालकर रोजाना सिर पर मालिश करने से रूसी नष्ट होती है।

4.पाचन के लिए:-

मेथीदाना को खाने से पाचन तंत्र दुरस्त रहता हैं। इससे पेट और आँतों की जलन और सूजन आदि में बहुत आराम मिलता है। इसके नियमित रूप से सेवन से पेट और आँतों के अल्सर में आराम मिलाता है । इसमे पाए जाने वाले घुलनशील फायबर से कब्ज को मिटाने में बहुत सहायक हैं।

5.खून की कमी दूर करे:-

मेथी की सब्जी बनाकर खाने से खून साफ होता है और खून में वृद्धि होती है क्योंकि मेथी के अन्दर आयरन प्रचुर मात्रा में होता है। इसलिए एनीमिया या खून की कमी में यह बहुत उपयोगी होती है। इसके अलावा मेथी, पालक, बथुआ आदि रोजाना सेवन करने से शरीर में खून की कमी दूर हो जाती है।

6.आँतो के कैंसर से बचाए:-

मेथी में डिओसजेनिन नामक तत्व पाया जाता हैं जो आँतों के कैंसर से बचाव करने में सक्षम होता है। अगर इसका सेवन नियमित रूप से किया जाये तो आंतों में कैंसर की समस्या कभी नही होगी।

7.मोटापा खत्म करे:-

आयुर्वेदिक और औषधीय गुणों से भरपूर मेथी में फाइबर होता है जो न केवल हमारे कब्ज की समस्या को दूर करती है बल्कि इसके दानों को चबाने से एक्सट्रा कैलरी बर्न होती है।मेथी दाना या मेथी के हरे पत्ते किसी भी रूप में सेवन करते रहने से शरीर सुडौल रहता है। मोटापा नहीं बढ़ता है और पेट पतला रहता है। छाती चौड़ी होती है और कमजोरी नहीं आती है।

8.कमर दर्द के लिए:-

2 चम्मच दाना मेथी और 2 छुहारे को 1 गिलास पानी में उबालकर छान लें। रात को सोते समय छुहारे और मेथी खाकर पानी पीने से कमर दर्द में लाभ होता है। इसके अलावा पानी में 5 खजूर उबालकर उसमें 5 ग्राम मेथी का पाउडर डालकर सुबह-शाम पीने से कमर दर्द में आराम मिलता है।

9.गठिया, साइटिका एवं जोड़ों के दर्द में:-

एक चम्मच दाना मेथी कूटकर, 25 ग्राम गुड़ एक गिलास पानी में उबालकर रोजाना दो बार पीने से लाभ इन विकारों में लाभ मिलता है। अंकुरित मेथी रोजाना दो बार खाने से भी लाभ होता है। इसके अलावा गठिया, (जोड़ों के दर्द) के दूर होने के बाद यदि दिल की कमजोरी प्रतीत हो तो 1-1 चम्मच मेथी और सोंठ का चूर्ण दिन में 2 बार गुड़ में मिलाकर खाने से लाभ होता है। इसके सेवन के समय खटाई का सेवन कम-से-कम करना चाहिए।

10.भूख न लगने पर:-

यदि भूख न लगती हो या कम खाना खाने से ही पेट भर जाता हो तो 7 ग्राम दाना मेथी में थोड़ा-सा घी डालकर सेंके। मेथी जब लाल होने लग जाए तब उतार लें और ठंडी होने पर पीस लें। फिर इसे 5 ग्राम लेकर शहद में मिलाकर लगभग 45 दिनों तक सेवन करें। इससे अच्छी भूख लगेगी।

11.पौरूष शक्ति बढ़ाए:-

पिसी दाना मेथी और पिसा हुआ सूखा धनिया बराबर मात्रा में मिलाकर 2 चम्मच रोजाना रात को गर्म दूध से लें। इसे लगातार 1 से 2 महीने तक लेने से पौरुष शक्ति बढ़ती है। मेथी सेक्स की कमजोरी को दूर करती है। मेथी के लड्डू या 1 चम्मच पिसी मेथी 2 चम्मच शहद के साथ भी ले सकते हैं।

12.कोलेस्ट्रॉल के लिए:-

मेथीदाना खाने से कोलेस्ट्रॉल पर नियन्त्रण रहता हैं मेथी में मौजूद फायबर गेलेक्टोमेनन के कारण रक्त में कोलस्ट्रोल की मात्रा कम करने में मदद मिलती है। इसके नियमित रूप से खाने से रक्त में क्लोट बनने की सम्भावना कम हो जाती है। और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती हैं।

13.पेट दर्द के लिए:-

3 चम्मच मेथी दाना को 1 गिलास पानी में उबालकर पानी पीने से या 2 चम्मच गर्म पानी से मेथी के चूर्ण की फंकी लेने से पेट की गैस, पेट में ऐंठन तथा दर्द आदि में लाभ होता है। इसके अलावा मेथी दान और अजवायन को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें, फिर इसमें स्वादानुसार कालानमक मिलाकर गर्म पानी से 2 बार फंकी लें। इससे पेट का दर्द ठीक हो जाता है।

14.शरीर को मजबूत बनाए:-

100 ग्राम दाना मेथी को घी में भून लें और दरदरा (मोटा-मोटा) कर लें। इसे 1-1 चम्मच भर लेकर दिन में 3 बार पानी से फंकी लें। इससे शारीरिक कमजोरी दूर होगी और वीर्य पुष्ट होगा। इसके अलावा 1-1 किलो दाना मेथी और गेहूं को मिलाकर पीस लें फिर इसे 2 चम्मच की मात्रा में 2 महीने तक नियमित सुबह-शाम दूध के साथ फंकी लें। इससे शरीर मजबूत होता है।

15.बालों के लिए:-

50 ग्राम पिसी हुई दाना मेथी या 50 ग्राम मेथी के पत्ते, तिल या नारियल के 100 मिलीलीटर तेल में डालकर 4 दिन रखें। फिर छान लें। इस तेल को बालों पर लगायें। इससे बाल काले और चमकदार रहेंगे। इसके अलावा मेथी के बीजों या मेथी की पत्तियों का पेस्ट बनाकर सिर में लगायें और सूखने पर बालों को धो लें। इससे बालों का झड़ना रुकता है। इसके साथ ही बालों का रूखापन भी दूर होता है।

loading...