Home भारत बस से सफ़र करते हैं सपा के ये विधायक, अखिलेश यादव का...

बस से सफ़र करते हैं सपा के ये विधायक, अखिलेश यादव का ठुकरा दिया था ये ऑफर

यूपी में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव और मायावती में सीधी टक्कर बताई जा रही है। 403 सीटों वाली उत्तर प्रदेश विधानसभा में सबसे उम्रदराज विधायक का नाम आलम बदी आजमी है। वह फिलहाल 86 साल के हैं।

उम्र 86 साल, 20 रूपये मीटर के टांडे के कपड़े का कुर्ता पायजामा, मामूली चप्पल, कान में छोटी सी सुनने की मशीन, हाथ में महज 1200 रूपये का मोबाइल, छरहरा बदन लेकिन चेहरे पर ग़ज़ब का आत्मविश्वास और सुकून. ये हैं 20वीं सदी में आजमगढ़ के निज़ामाबाद से तीन बार के विधायक आलम बदी.

आइए जानते हैं कितनी संपत्ति के मालिक है आलम:

आलम बदी आजमी आजमगढ़ के निजामाबाद विधानसभा सीट से सपा के विधायक है। 2017 में वह यह चुनाव 81 साल की उम्र में जीते थे। आलम बदी चौथी बार विधायक चुने गए हैं।

2012 में जब अखिलेश यादव की सरकार बनी तो उन्होंने आलम बदी को मंत्री पद ऑफर किया था। लेकिन आलम बदी ने अपेन क्षेत्र के लोगों पर ही पूरा ध्यान देने की बात कहते हुए मंत्रीपद ठुकरा दिया था।

आलम बदी अपनी जीवन शैली के लिए भी चर्चित है। कहा जाता है कि विधायक बनने के बाद भी वह बेहद साधारण जीवन जीते हैं। संपत्ति की बात करें तो उनके पास करीब 40 लाख रुपए की प्रॉपर्टी है।

13 लाख की चल और 27 लाख की अचल संपत्ति के मालिक आलम बदी के पास बोलेरो कार है। हालांकि आलम बदी विधायक बनने के बाद भी रोडवेज बसों से सफर करते रहे हैं।

आजमगढ़ में ही वह एक फर्नीचर स्टोर भी चलाते हैं। इस स्टोर को उनकी पत्नी संभालती हैं।

अखिलेश को लेकर बदी खुलकर कहते हैं कि, वो मुंह में चांदी की चम्मच लेकर पैदा हुए हैं, लेकिन उनके संस्कार ऐसे हैं कि वो आगे जायेंगे. मेरे जाने पर वो कुर्सी से खड़े हो जाते हैं.

आलम बदी की संपत्ति से जुड़े ये आंकड़े 2017 में दिये गए उनके चुनावी हलफनामे से लिये गए हैं।

आलम बदी कहते हैं ‘ना मैं कमीशन खाता हूं और ना ही मेरे बेटे ठेकेदार से मिलकर खेल करते हैं’. इलाके में मशहूर है कि, बदी साहब की विधायक निधि का टेंडर जल्दी कोई ठेकेदार नहीं लेता, क्योंकि वो सड़क, नाला, या कोई भी काम खुद खड़े होकर कराते हैं. कमीशन लेते नहीं और कमी होने पर ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट कराने से भी चूकते नहीं हैं.

Previous articleधरम पाजी से शादी को लेकर कंफ्यूज हो गई थी हेमा मालिनी, फिर हुआ था ये
Next articleपेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर 10 गैर बीजेपी शासित राज्यों में VAT में कटौती का इंतजार, जानिए क्या है वजह