कोई जरूरतमंद भूखा न सोए इसलिए मात्र 1 रूपये में दिया जाता हैं भरपेट खाना, रोजाना इतने लोगों को खिलाया जाता है खाना…!

किसने कहा दूसरों की मदद करने के लिए कुछ बड़ा ही करना पड़ता है? हमारे देश में आज भी कई लोग ऐसे हैं, जिन्हे दो वक़्त की रोटी तक नसीब नहीं होती. अपनी गरीबी और लाचारी के चलते कई ऐसे लोगों को भूके पेट ही सोना पड़ता है.

ऐसे में कुछ नेक लोग हैं, जो मसीहा बनकर इन लाचारों की मदद के लिए आगे आते हैं. उनमे से एक हैं 51 साल के परवीन कुमार गोयल… जो पिछले दो महीने से श्याम रसोई नाम की दूकान चला रहे हैं.

जहां सुबह 11 बजे से 1 बजे के बीच 1 रुपये में थाली मिलती है. इस थाली में चावल, रोटी, सोया पुलाव, पनीर, सोयाबीन, हलवा मिलता है. इसी के साथ इस रसोई में हर दिन मेन्यू भी चेंज होता रहता है.

परवीन कुमार गोयल की इस रसोई में सुबह की चाय से लेकर दोपहर का नाश्ता तक मिलता है. यह सभी आइटम सिर्फ 1 रुपये में यहां उपलब्ध है.


इस रसोई के बाहर हर वर्ग के लोग लाइन में लगे होते हैं. यहां से कोई भी गरीब खली हाथ नहीं लौटता है और ना ही किसी को भूके पेट सोना पड़ता है. 51 साल के परवीन कुमार गोयल ने अपनी इस रसोई को लेकर कहा कि “हम यहां 1,000 से भी ज़्यादा लोगों को खाना खिलाते हैं.

साथ ही तीन ई-रिक्शा को लेकर इंद्रलोक, साई मंदिर और आस-पास के इलाकों तक आर्डर भी पहुंचाते हैं.

उन्होंने बताया कि उन्हें लोगों से दान मिलता है. कुछ राशन देकर जाते है तो कुछ गेंहू के साथ पैसों की मदद भी करते हैं. इस तरह से हम पिछले दो महीने से इस रसोई को चला पा रहे हैं. उन्होंने लोगों से इसी तरह की उम्मीद को बरकरार रखते हुए मदद मांगी, जिससे वह इस सेवा को जारी रख सकें”.

जानकारी के लिए बता दें, परवीन कुमार गोयल की मदद के लिए कई कॉलेज के छात्र भी सामने आए, गोयल ने अपने साथ 6 हेल्पर रखे हैं जिनको बतौर बिक्री के आधार पर वह 400 से 500 रूपए देते हैं. पहले श्याम रसोई की थाली की कीमत 10 रूपए थी मगर अब इसकी कीमत 1 रूपए कर दी गई है.