जज्बे को सलाम; नहीं है एक हाथ, फिर भी चलाता है पावभाजी का ठेला, वीडियो देखकर आप भी हो जाएंगे भावुक….!

यदि आप अपनी सोच बदलते हैं, तो दुनिया में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसे आप पा नहीं सकते. आपको बस यह समझना होगा कि आप अपने काम को किस तरह से देखते हैं और सफल बनाने के लिए कैसा काम करते हैं. मिसाल के तौर पर मुंबई के मलाड में पाव भाजी की दुकान चलाने वाले इस दिव्यांग व्यक्ति को ही लें.

जहां आप एक बड़ी चुनौती को साफ-साफ देखते हैं, वहीं इस आदमी को अपने धैर्य का परीक्षण करने का अवसर दिखाई देता है. और वह इसे काफी सहजता से करता है. यूजर गुरमीत चड्ढा द्वारा साझा किए गए एक ट्वीट में वेंडर की पहचान मितेश गुप्ता के रूप में हुई है जो मलाड में इस स्टॉल को चलाता है.

एक हाथ के बिना ही ठेले पर पावभाजी बेचता है शख्स

वीडियो को सोशल साइट पर 16 जुलाई को शेयर किया गया था और अब तक इसे 75.7k बार देखा जा चुका है. वायरल हो रहे वीडियो में मितेश गुप्ता को शुरुआत से खाना बनाते हुए देखा जा सकता है.


वह पहले अपने ठेले को सड़क पर लाता है और उस पर मौजूद सामान को सेट करता है. इसके बाद वह एक-एक करके सब्जियां काटना शुरू करता है. मितेश अपने दिव्यांग हाथ से चाकू को दबाकर रखता है, जबकि दूसरे हाथ सब्जियों को काटता है.

सभी सब्जियां जब कट जाती है तो तवे पर तेल डालने के बाद भाजी बनाना शुरू करता है. भाजी बना लेने के बाद वह ठेले पर रखे पाव को गर्म करता है.

लोगों ने इस जज्बे को किया सलाम

आखिर में आप जो देखते हैं वह एक शानदार थाली है. ट्वीट्स के अनुसार, मलाड ईस्ट में निर्मला कॉलेज के पास प्यारेलाल पाव भाजी नाम से स्टाल लगाया जाता है. इसे ही कहते हैं जज्बा और जुनून जो मितेश गुप्ता बिना किसी की मदद से अपनी दुकान पर रोजमर्रा का काम करके पैसा कमा रहे हैं.

वीडियो वायरल होने के बाद लोग तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं. एक यूजर ने लिखा, ‘दिल छू लेने वाला, बेहद ही प्रेरणात्मक. ये ही है जुनून जो इस शख्स में है. भगवान और ताकतवर बनाए.’ एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘इसके जज्बे को सलाम.’