आईपीएल में भारत से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज आवेश खान ने विराट कोहली को लेकर दिया ये बड़ा बयान

IPL के 14 वें सीजन में 16 मैचों में 24 विकेट हासिल कर भारत की ओर से सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले दूसरे गेंदबाज रहे आवेश खान को उम्मीद है कि उन्हें जल्द ही टीम इंडिया में मौका मिलेगा। टी20 वर्ल्ड कप में नेट बॉलर के तौर पर टीम के साथ शामिल आवेश खान का मानना है कि टीम इंडिया जीत की प्रबल दावेदार है।

उनका मानना है कि भारत के लिए अलावा उनके हिसाब से वेस्टइंडीज भी टीम की दावेदार होगी। वह मानते हैं कि टीम इंडिया को वर्ल्ड कप दिलाने में टीम के प्रत्येक खिलाड़ी महत्वपूर्ण योगदान देंगे। आवेश के करियर और टीम इंडिया के साथ उनके नेट बॉलर के तौर पर अनुभव को लेकर भास्कर ने बातचीत की। प्रस्तुत है बातचीत के प्रमुख अंश

सवाल . इस वर्ल्ड कप के लिए भारत कितनी मजबूत स्थिति में है? और इस टूर्नामेंट में कौन तुरुप का पत्ता साबित हो सकता है?

आवेश: हमारी टीम काफी स्ट्रॉन्ग है, बैलेंस्ड है और सभी लोग अच्छा परफॉर्म कर रहे हैं। टीम वर्ल्ड कप जीतने की मजबूत दावेदार है। टीम में हर कोई बेहद अच्छा परफॉर्म कर रहा है। विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल, ऋषभ पंत, रविंद्र जडेजा भी अच्छे फॉर्म में हैं।

ऐसे में किसी भी खिलाड़ी को तुरुप का इक्का बोलना सही नहीं है। इंडीविजुअल परफॉर्मेंस से आप एक या दो मैच जीत सकते हैं, लेकिन जब तक पूरी टीम अच्छा नहीं खेलेगी तब तक आप लगातार नहीं जीत सकते। सभी खिलाड़ी अपने हिसाब से अच्छा परफॉर्म करेंगे तो टीम इंडिया वर्ल्डकप जीतेगी।

आपके हिसाब से भारत के अलावा कौन सी दूसरी टीम वर्ल्ड कप की दावेदार हो सकती है?

आवेश: भारत के अलावा वेस्टइंडीज दावेदार हो सकती है। टीम काफी अच्छी है और उनके खलाड़ी काफी फिट हैं, जैसे कीरन पोलार्ड, निकोलस पूरन, शिमरॉन हिटमेयर। वेस्ट इंडीज टीम काफी टफ कॉम्पटीशन दे सकती है भारत को।

आपको क्या लगता है आप कब तक भारत की प्रमुख टीम का हिस्सा बन जाएंगे?

आवेश: देखिए, ये तो मेरे हाथ में नहीं है। जब भी सिलेक्टर्स को लगेगा कि मैं टीम के लिए सही हूं और जब भी मुझे मौका मिलेगा, मैं अपनी परमानेंट जगह बनाने की कोशिश करूंगा।

आप IPL में दिल्ली के लिए खेलते हैं और टीम के कोच रिकी पॉन्टिंग हैं, उनसे क्या सीखने का मिला?

आवेश: उनसे मैंने बहुत कुछ सीखा है। उनके साथ चार साल हो गए हैं, तो वे मुझे अच्छे से जानते हैं। उनसे सीखकर मैंने IPL में अच्छा परफॉर्म किया है। वे मुझे हमेशा मेंटली सपोर्ट करते आए हैं, हमेशा बताते रहे हैं कि क्या करना है और क्या नहीं। हमेशा समझाते थे कि तुम बेस्ट हो, अच्छा करोगे। जब कोच आपको ऐसे मोटिवेट करता है तो अच्छा लगता है।

आप अपने इस साल के IPL के प्रदर्शन से कितने खुश हैं?

आवेश: थोड़ा तो संतुष्ट हूं, लेकिन इससे भी अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश रहेगी आने वाले सालों में। मैंने बेंचमार्क सेट किया है, उससे हमेशा थोड़ा ऊपर अपने आपको पुश करता हूं। थोड़ा और अच्छा करने की कोशिश करता हूं।

आपने ईशांत शर्मा के साथ खेला है, उनसे और टीम के बाकी खिलाड़ियों से क्या सीखने को मिला?

जवाब: ईशांत भाई तो हमेशा गाइड करते थे कि इस मैच में ऐसा बॉल डालो या ऐसी बॉल डाल सकता था। ये सब चीजें मैं ध्यान रखता था और इंप्रूवमेंट लाने की कोशिश करता था। वो मुझे सब समझाते थे कि यहां बॉल स्लो डाल सकता है, इस बैट्समैन को बाउंसर डाल सकता है। जब आकर यह सब समझाते थे तो अच्छा लगता था।

पाकिस्तान के साथ भारत का पहला मैच है, तो आपकी नजर में हम कितने मजबूत हैं और पाकिस्तान के कौन से गेंदगाज या बल्लेबाज भारत के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं?

आवेश: मुझे लगता है कि अगर हम अपनी परफॉरमेंस पर फोकस करेंगे तो हमारे जीतने के चांस बढ़ जाएंगे। बजाय यह सोच के उस टीम के पास ऐसा बैट्समैन है, ऐसा बॉलर है, अच्छा प्लेयर है। हम अगर अपनी स्ट्रेंथ पर खेलेंगे और अपना 100% देंगे तो भारत ही जीतेगा।

यहां तक पहुंचने के लिए आपने क्या स्ट्रगल किया?

आवेश: स्ट्रगल तो बहुत किया। मैंने भी और मेरे परिवार ने भी। जब भी उसके बारे में सोचता हूं तो अच्छा लगता है। सच तो यह है कि अगर वो स्ट्रगल न होता तो यहां तक नहीं पहुंच पाता। अब बस यही दुआ है कि जल्द से जल्द टीम इंडिया के लिए मैच खेलूं और अपने स्ट्रगल को हमेशा याद रखूं जिससे मेरी खेलने की भूख और ज्यादा बढ़ सके।