मशहूर पत्रकार अंजना ओम कश्यप के बारें में ये बातें तो आप बिलकुल नहीं जानते होंगे

पत्रकारिता के क्षेत्र में ऐसे कुछ ही लोग हैं, जो अपनी बेबाकी और कटाक्ष बोली के लिए मशहूर हैं। उनमें से एक हैं अंजना ओम कश्यप जो इंडिया के टॉप न्यूज चैनल में शुमार आज तक की एंकर हैं। अंजना को भारत के सफल और फेमस पत्रकारों में गिना जाता है। ये अपने शो हल्ला बोल और आज तक स्पेशल रिपोर्ट के लिए मशहूर हैं।

अंजना एक तेज़तर्रार और बेखौफ पत्रकार हैं। वो जिस तरह बेबाकी से अपनी बात सबके सामने रखती हैं, उसके चलते लोग इन्हें सुनना काफी पसंद करते हैं। निर्भिक और आक्रामक अंदाज इनकी पहचान है। राजनीति से जुड़ी खबरों पर अंजना अच्छी पकड़ रखती हैं और मौके आने पर नेताओं पर धारदार सवालों की बौछार करती हैं।

न केवल आज तक बल्कि इससे पहले भी अंजना ने कई हिन्दी चैनलों में बड़ी बहस और दो टूक जैसे डिबेट शोज की मेजबानी की है। पत्रकार के रूप में अंजना दशकों से लोगों को प्रेरित कर रही हैं। आज तक की यह तेज तर्रार पत्रकार 12 जून को अपना 46वां जन्मदिन मनाने जा रही हैं। उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातों से रुबरु करवाएंगे।

हिंदू परिवार में हुआ जन्म

अंजना ओम कश्यप का जन्म 12 जून 1975 को एक हिंदू परिवार में रांची में हुआ था। बचपन से ही अंजना को पत्रकार बनना था। इनके पिता ओमप्रकाश तिवारी भारतीय सेना में डॉक्टर थे। परिवार में पढ़ाई को हमेशा तवज्जो दिया गया। ऐसे में अंजना ने अपनी स्कूलिंग रांची से करने के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया।

UPSC एग्जाम क्रैक नहीं कर पाई थीं अंजना

ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद उन्होंने यूपीएससी एग्जाम के लिए तैयारी की, हालांकि इस एग्जाम को वो अंजना क्रैक नहीं कर पाईं। ऐसे में अंजना ने वो करना चुना, जिसका वो बचपन से सपना देखती थीं। उन्होंने साल 2003 में दूरदर्शन के साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में एंट्री की। अपने टैलेंट और पैशन के चलते आज वो इंडिया के टॉप पत्रकारों में से एक हैं।

अंजना ओम कश्यप का नेट वर्थ

कई लोग ऐसे हैं जो अंजना ओम कश्यप के नेट वर्थ के बारे में जानने में रुचि रखते हैं। इसे लेकर काफी मिथ भी है। अंजना की मनथली इनकम करीब 25 लाख बताई जाती हैं।

पति हैं IPS ऑफिसर

अंजना ओम कश्यप की शादी 1995 में दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप पुलिस सेवा कैडर के एक अधिकारी मंगेश कश्यप से हुई है। बताया जाता है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के दौरान अंजना और मंगेश से की मुलाकात हुई थी।

बता दें कि जब मंगेश कश्यप साउथ दिल्ली मुंसिपल कॉरपोरेशन के सीवीओ नियुक्त किए गए थे तो ऐसी अफवाह थी कि उनको ये पद उनकी काबलियत की वजह से नहीं बल्कि उनकी वाइफ यानी अंजना की वजह से हासिल हुआ है। अंजना और मंगेश के एक बेटा और एक बेटी है।