करोड़ों दिलों पर राज करने वाले देश के जाने माने पत्रकार रवीश कुमार की ज़िंदगी के कुछ पहलू

वर्तमान समय में पूरा देश एक खास किस्म की विचारधारा मैं बटता जा रहा है। इसमें दो पक्ष है एक जो उसका समर्थक है और एक जो उसका विरोधी है। रवीश कुमार भारतीय पत्रकारिता का एक जाना माना नाम है।

रवीश कुमार देश के जाने-माने पत्रकार न्यूज़ एंकर और ब्लागर हैं। राजनीतिक और सामाजिक विषयों पर रवीश कुमार के लेखों को काफी पसंद किया जाता है। उनके लेखों में गांव, किसान और मजदूर मुख्य पात्र होते हैं। ग्राउंड लेवल पर जाकर खेतों में काम करने वाले किसानों और मजदूरों से बात करना या फुटपाथ पर छोटी दुकानों में चाट पकौड़ी खा कर लोगों से बात करना लोगों को प्रभावित करता है।

जितनी सादगी और दिलचस्पी से रवीश कुमार महत्वपूर्ण मुद्दों पर बात कर जाते हैं वह उन्हें अन्य पत्रकारों से अलग कर देता है। रवीश कुमार एनडीटीवी पर आने वाले प्राइम टाइम के एंकर है । जहां रोज अलग-अलग विषयों पर चर्चा होती है।

रवीश कुमार का जन्म बिहार के ब्राह्मण परिवार मैं पूर्वी चंपारण जिले में हुआ। उनका जन्म 5 दिसंबर 1974 को हुआ। उनकी प्रारंभिक शिक्षा पटना के लोहिया हाई स्कूल में हुई। उच्च शिक्षा के लिए प्रवेश दिल्ली चले गए जहां दिल्ली विश्वविद्यालय यह दीनबंधु कॉलेज से उन्होंने स्नातक किया। पढ़ाई के समय में रवीश कुमार की मित्रता नैना दास गुप्ता से हो गई जो आगे चलकर उनकी पत्नी बनी।

रवीश कुमार पिछले 22 वर्षों से पत्रकारिता कर रहे हैं रविश कुमार ने पत्रकारिता की पढ़ाई दिल्ली से ही की। रवीश कुमार को अपनी बेबाक पत्रकारिता के लिए कई अवार्ड भी मिल चुके है । उनकी पत्नी लेडी श्रीराम कॉलेज में प्रोफेसर हैं।

वे पिछले 15 वर्षों से एनडीटीवी के लिए पत्रकारिता कर रहे हैं। उन के सो रवीश की रिपोर्ट और प्राइम टाइम काफी चर्चा में बने रहते हैं। रवीश कुमार को मोदी विरोधी पत्रकार माना जाता है यही कारण है कि वह अक्सर सोशल मीडिया पर मोदी समर्थकों से ट्रोल होते रहते हैं।

कितनी है कुल संपत्ति

वही रवीश कुमार की संपत्ति की बात करें तो वह करीब 10 से 15 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं। न्यूज़ वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार रवीश कुमार को पिछले साल हर महीने करीब 15 लाख रुपए सैलरी के रूप में मिले थे। रवीश कुमार दिल्ली में अपने परिवार के साथ रहते हैं उनके पास लग्जरी कारें भी हैं।