कपिल बोले विराट को दिखाओ बाहर का रास्ता, अब खुद रोहित शर्मा बोले- “बाहर के लोग क्या बोल रहे हैं…”

मैच गंवाने के बाद बात करने आए भारत के कप्तान रोहित शर्मा ने बताया कि हमारे लिए ये एक शानदार रन चेज़ बन जाता लेकिन हम ऐसा करने से चूक गए. आगे रोहित ने कहा कि हमने जीत के लिए जितनी कोशिश की उससे मैं ख़ुश हूँ.

सूर्यकुमार यादव के बारे में रोहित ने बोला कि मैं उन्हें कुछ समय से देख रहा हूँ. वो इस तरह की परिस्थिति में बेहतर खेल दिखाते हैं. स्काई और अय्यर ने अपनी बल्लेबाज़ी से हमें मैच में वापिस ला दिया था लेकिन विकटों के गिरने से हम मैच को गँवा बैठे.

विराट कोहली पर क्या बोले रोहित

तीसरे टी-20 मैच के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए. इसी क्रम में उनसे कोहली के फॉर्म को लेकर भी सवाल किया गया. जिसके बाद रोहित ने जिस तरह से उन लोगों को फटकार लगाई है जो कोहली के फॉर्म को लेकर निशाना साध रहे हैं यकीनन उनकी बोलती बंद हो गई होगी.

रोहित ने सीधे तौर पर कहा कि ‘बाहर के लोग क्या बोल रहे हैं इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है. ये लोग कौन है जो ऐसी बातें करते हैं, मुझे आजतक यह नहीं पता कि उन्हें क्रिकेट का एक्सपर्ट क्यों कहा जाता है’.

रोहित ने कहा कि, ‘वो लोग बाहर से खेल देख रहे हैं उन्हें कुछ पता नहीं है कि अंदर क्या हो रहा है. हमारी ऱणनीति अलग रहती है. हम एक टीम बनाते हैं, इसके पीछे काफी सोच-विचार रहती है. बाहर क्या हो रहा है वो मेरे लिए ज्यादा अहम नहीं है. हम क्या करना चाहते हैं वह हमारे लिए ज्यादा अहम है.’

रोहित शर्मा ने आगे कहा कि, ‘अगर आप फॉर्म की बात करते हैं तो वह सभी के साथ ऐसा होता है. सभी का फॉर्म आगे पीछे होता रहता है. प्लेयर का क्वालिटी वह कभी खराब नहीं होता है. ये हमेशा हमें ध्यान में रखना चाहिए कि प्लेयर का क्वालिटी कभी खराब नहीं होता है. हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए’.

भारतीय कप्तान ने आगे कहा कि, ‘हम उस क्वालिटी का ख्याल रखते हैं, उसे ही बैक करते हैं. हम उस क्वालिटी को देखकर उस खिलाड़ी को बैक करते हैं. यह मेरे साथ हुआ है, सभी के साथ हुआ है.

जब कोई प्लेयर इतने सालों से टीम के लिए अच्छा करते आया है तो एक या दो तीन सीरीज खराब रहने पर या एक साथ फॉर्म नहीं रहने पर उस खिलाड़ी को अनदेखा नहीं करना चाहिए.

हालांकि इसे समझने में लोगों का समय लगता है लेकिन हम लोग जो टीम में हैं, जो टीम चला रहे हैं उन लोगों को पता है क्वालिटी प्लेयर को टीम में रहने से उसका महत्व क्या होता है. मैं उन बाहर वाले लोगों से अपील करूंगा कि, उन्हें बोलने का हकदार है लेकिन हमारे लिए उनकी बातों का कोई मतलब नहीं है’.

बता दें कि तीसरे टी-20 में विराट कोहली 6 गेंद पर 11 रन बनाकर आउट हुए तो वहीं दूसरे टी-20 में किंग कोहली ने केवल 1 रन बनाए थे. कोहली के खराब फॉर्म पर कपिल देव से लेकर वीरेंद्र सहवाग जैसे पूर्व दिग्गजों ने निशाना साधा था.

कपिल देव ने तो यहां तक कह दिया था कि यदि अश्विन टेस्ट टीम से बाहर रह सकते हैं तो कोहली को टी-20 और वनडे से क्यों नहीं बाहर किया जा सकता है.