सावधान! बुरा वक्‍त आने से पहले मिलने लगते हैं ऐसे इशारे

loading...

ज्‍योतिष शास्‍त्र के अनुसार मनुष्‍य को उसके कर्मो की सजा इसी जन्‍म में मिलती है । मृत्‍यु के आने तक व्‍यक्ति अपने सभी अच्‍छे बुरे कर्मों की सजा प्राप्‍त कर चुका होता है । फिर चाहे वो रोगों के जरिए हो या फिर कोई दुर्घटना, परिवार से मतभेद के बाद अलगाव हो या फिर जीवन में आने वाले सुख-दुख । शनिदेव को न्‍याय का देव कहा जाता है, वो मनुष्‍य के कर्मों का पाई पाई का हिसाब लेते हैं । लेकिन ऐसा नहीं है कि आपको इन सब बातों का संकेत नहीं मिलता । प्रकृति आपको कई तरह से आपके बुरे वक्‍त का इशारा देती है । जानिए क्‍या है वो इशारे ।

जूते-चप्‍पल का चोरी होना

शास्‍त्रों के अनुसार शनि कुपित हों तो व्‍यक्ति के लिए जीवन बहुत कठिन हो जाता है । शनि की बुरी नजर से बचने के लिए सभी कुछ ना कुछ करते हैं । यदि आपके जूते-चप्पल बार-बार चोरी हो रहे हैं तो समझिए आप से शनिदेव कुपित हैं और इसके परिणाम भयानक होने वाले हैं। जूते-चप्‍पल का खोना धन हानि का संकेत है। हमारे शरीर में शनि का प्रभाव पैरों में अधिक होता है । पैरों से जुड़ी चीजों का खोना शुभ नहीं माना जाता ।

खर्च और नुकसान

नौकरी में जब बात आपकी Salary पर आ जाए । उसमें बेवजह के डिक्‍शन किए जाने लगें । या फिर आपके कारोबार में हो रहा नफा अचानक नुकसान में बदलने लगे । धन के आने के सब रास्‍ते बंद हो जाएं । यहां तक की आपकी जमा पूंजी भी खर्च होने लगे तो समझिए आप पर शनि का बुरा असर पड़ रहा है । बेवजह का नुकसान शनि की कुदृष्टि का फल है ।

जोड़ों में दर्द, बाल सफेद

असमय बालों की सफेदी और जोड़ों में दर्द होना शनि की कुपित दृष्टि का असर माना जाता है । ये संकेत आपके बुरे समय की ओर इशारा करते हैं । शनि मंदिर में जाकर तेल चढ़ाने से आपके ऊपर चल रहे इन प्रभावों का असर कुछ कम हो सकता है । शनिवार को शनिमंदिर में दान देने, गरीबों, जरूरतमंदों को खाना खिलाने से भी आप लगे ये दोष कटने लगते हैं ।

ये भी हैं संकेत

शनि का प्रभाव हो तो ससुराल पक्ष से जुड़ी कोई बुरी खबर मिलती है। अगर आपका किसी काम में मन नहीं लग रहा है तो आपका बुरा समय शुरू होने वाला है । थकान होना, आलस बढ़ना ये सभी बुरे समय की शुरुआत के संकेत हैं । ऐसा हो तो समझिए अब आपके लिए मुश्किल घड़ी से निपटने का समय आ गया है, इस अशुभ असर से बचने के लिए भगवत भक्ति का सहारा लें ।

गलत काम में लगता है मन

मति भ्रष्‍ट होना, शराब-नशे आदि में रहना, गलत संगत में पढढ़ जाना ये सभी शनि की कुदृष्टि का फल है । जो भी व्‍यक्ति ऐसे कामों में लिप्‍त हो जाता है उसे अच्‍छे बुरे की पहचान नहीं रह जाती वो ना तो अपना अचछा समझ सकता है और ना ही बुरा समझा सकता है, ऐसे व्‍यक्ति के लिए जीवन में आगे बढ़ने के सब रास्‍ते बंद होने लगते हैं । इंसान को अपने भले बुरे की पहचान होनी चाहिए ।

अगर आए ऐसे सपने

व्‍यक्ति को आने वाले सपनों को भी उनके जीवन में होने वाली गतिविधियों से बड़ा संबंध होता है । विशेषकर स्त्रियों से जुड़े सपने दिखने लगें तो आपको थोड़ा सचेत हो जाना चाहिए । यदि कोई अविवाहित पुरुष स्‍वप्‍न में अपनी प्रेमिका को हीरा अथवा हीरे से जड़ा आभूषण भेंट करता है तो उसका आने वाला दांपत्य जीवन नरक के समान हो जाता है। सपने में यदि आप स्‍त्री का ऐसा चित्र बना रहे हैं जो नग्‍न अवस्‍था में है तो आपको दुर्भाग्‍य घेर सकता है ।

संबंध खराब होने के संकेत

जब कोई व्‍यक्ति अपनी पत्‍नी या प्रेमिका को किसी दूसरे व्‍यक्ति के साथ भागते हुए देखे तो ये संकेत है आपके संबंधों में आ रही दूरियों के । स्‍वन्प्‍न शास्‍त्र के अनुसार ये संकेत है आपके पार्टनर के आपको छोड़े के जाने के । वहीं, यदि कोई व्‍यक्ति सपने में खुद को पत्‍नी या प्रेमिका से दूर होता हुआ देखे तो वो बीमार पड़ सकता है या प्रेमिका से कोई मनमुटाव संभव है ।

ये वर्ष इन राशियों के लिए है कठिन

इस वर्ष शनि धनु राशि में रहेगा । इसकी वजह से वृश्चिक, धनु और मकर राशि वालों पर साढ़ेसाती रहेगी । साथ ही वृष और कन्या राशि वाले लोगों पर शनि की ढय्या रहेगी । मिथुन, कन्या और कुंभ राशि वाले ध्‍यान रखें शनि की नजर आप पर है । 7 राशियों पर शनि का पूरा असर रहने वाला है । इन सभी को सचेत रहने की सलाह दी जाती है । कोई भी ऐसा काम ना करें जो न्‍यायसंगत ना हो ।

नोट : इस आर्टिकल में दी गई जानकारियां रिसर्च पर आधारित हैं । इन्‍हें लेकर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूरी तरह सत्‍य और सटीक हैं, इन्‍हें आजमाने और अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

loading...