ड्यूटी के दौरान छह माह की बच्ची को लेकर पहुँची लेडी कांस्टेबल, डीजीपी ने इस वजह से कर दिया ट्रांसफर…!

ड्यूटी के दौरान छह माह की बच्ची को लेकर अपना कार्य मुस्तैदी से करने वाली महिला कांस्टेबल अर्चना जयंत की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने इस पर संज्ञान लेते हुए अर्चना का तबादला उसके घर के पास करने का आदेश दिया।

ड्यूटी के दौरान भी मां की जिम्मेदारी और खाकी का फर्ज निभाने वाली महिला कांस्टेबल अर्चना की सोशल मीडिया पर फोटो तेजी से वायरल हुई थी।

पुलिस महानिदेशक ने ट्वीट कर कहा कि उन्होंने अर्चना से बात की और उसका तबादला उसके घर के पास आगरा करने का आदेश दिया।सिंह ने कहा कि अर्चना का जज्बा पुलिस विभाग को प्रेरणा देने वाला है। इक्कीसवीं सदी की महिला का यह उत्कृष्ट उदाहरण है जो अपनी जिम्मेदारियों पर यकीन करती है।

झांसी जोन के पुलिस उप महानिरीक्षक सुभाष सिंह ने ड्यूटी के प्रति अर्चना के समर्पण की सराहना करते हुए उसे एक हजार रुपये नकद इनाम देने का ऐलान किया। उन्होंने अपने ट्वीट में यह भी कहा कि अर्चना के जज्बे ने उन्हें हर पुलिस लाइन में पालनाघर (क्रेच) खोलने की संभावना तलाशने के लिए भी प्रेरित किया है।

एसएसपी (झांसी) विनोद कुमार सिंह ने कहा कि इस समय जिले में 350 महिला कांस्टेबल तैनात हैं, जिनमें सौ की स्थिति अर्चना की ही तरह है यानी वे अपने नन्हे बच्चे भी संभाल रही हैं और समर्पण के साथ ड्यूटी भी कर रही हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि अर्चना का परिवार आगरा में रहता है और उसका ससुराल कानपुर में है। उसका पति गुडगांव की एक निजी कंपनी में काम करता है। सूत्रों ने बताया कि अर्चना ने आगरा में तबादले का विकल्प चुना। अर्चना के एक दस साल की बच्ची भी है।