एक हफ्ते में बढ़ा हुआ लिवर हो जायेगा कम, इस आसान से प्रयोग से

यह नुस्खा हकीम महबूब आलमखां साहिब फर्स्ट क्लास मजिस्ट्रेट लद्दाख जी से सादर लिया गया है. यह नुस्खा लीवर के बढ़ जाने पर तो अत्यंत कारगर है ही इसके साथ में कई जगहों पर कुछ लोगों के पेट बढ़ जाते हैं और टाँगे सूख जाती हैं. उनके लिए भी यह बेहद कारगार है.

इस योग के लिए ज़रूरी सामान.

अंगूर का सिरका – 100 ग्राम.

निम्बू का रस – 100 ग्राम.

मूली का रस – 100 ग्राम.

नौशादर – 60 ग्राम.

आकाश बेल का रस – 100 ग्राम. (आकाश बेल – अमर बेल को बोलते हैं.) इसकी पहचान के लिए आप हमारी ये पोस्ट यहाँ क्लिक कर के पढ़ सकते हैं.

एक कांच की बोतल में इस सारे सामान को डाल दीजिये. नौशादर को छोटे छोटे टुकड़ों में कर के डालिये. सब चीजों को भरकर ढक्कन लगा कर बोतल को धुप में रख दीजिये. सुबह धुप में रखें और शाम होते ही कमरे में साफ़ और खुली जगह में रख दीजिये. पांच दिन धुप दिखाने के बाद रोगी को निमिन्लिखित विधि से दीजिये.

ये दवा सेवन की विधि.

इस दवा को रोगी को पहले दिन 10 ग्राम सुबह नाश्ते से एक घंटा पहले पिलायें.

दुसरे दिन 20 ग्राम.

तीसरे दिन 30 ग्राम.

चौथे दिन 40 ग्राम.

फिर प्रतिदिन 40 ग्राम तक पिलातें रहें.

एक हफ्ते के अन्दर आपको अदभुत परिवर्तन देखने को मिलेंगे.