पेड़ के नीचे बैठने वाले वैद्य जी के पास पहुंचे एमएस धोनी, 40 रूपये की दवा से करवाया इलाज़

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को 2019 में अलविदा कह दिया था। उसके बाद से वह सिर्फ आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से खेलते हैं। खाली समय में धोनी अपने शहर रांची में ही रहते हैं।

हाल ही में एक दोस्त के जन्मदिन पर वह नजर आए थे। उनका वीडियो वायरल हुआ था। अब धोनी एक बार फिर से चर्चा में हैं, लेकिन इस बार स्वास्थ्य कारणों को लेकर उनकी बात हो रही है।


दरअसल, धोनी पिछले कुछ दिनों से घुटने के दर्द से परेशान हैं। उनका इलाज भी चल रहा है, लेकिन देश या विदेश के किसी बड़े अस्पताल में नहीं। धोनी रांची से 70 किलोमीटर दूर लांपुक के जंगली इलाके में अपना इलाज करवा रहे हैं।

उनका इलाज वैद्य वंदन सिंह खेरवार कर रहे हैं। करीब एक महीने से धोनी वहां जा रहे हैं और 40 रुपये में अपना इलाज करा रहे हैं। उन्हें दवा के 20 रुपये और फीस के रुप में 20 रुपये देने पड़ते हैं।

धोनी को नहीं पहचान पाए थे वैद्य

धोनी एक महीने से हर चार दिन पर वहां जाते हैं और वैद्य वंदन सिंह खेरवार से जड़ी-बूटियां लेते हैं। वैद्य वंदन सिंह के मुताबिक, धोनी के माता-पिता भी उनके यहां आ चुके हैं।

 

जब पहली बार धोनी उनके पास गए थे तो वह उन्हें पहचान नहीं पाए थे। लोगों ने उन्हें धोनी के बारे में बताया। भारत के पूर्व कप्तान जब भी वहां जाते हैं तो भारी भीड़ हो जाती है।

वैद्य वंदन सिंह के मुताबिक, कैल्शियम की कमी कारण उनके दोनों घुटनों में दर्द है। उन्हें चलने में तकलीफ होती है। वह एक आम मरीज की तरह वहां जाते हैं तो खुद से 40 रुपये देकर इलाज करवाते हैं। पिछली बार 26 जून को धोनी उनके वैद्य के पास गए थे।

अगले साल आईपीएल में खेलेंगे माही

धोनी ने साफ कर दिया है कि वह अगले साल आईपीएल में खेलेंगे। चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान आईपीएल के दौरान हर मैदान पर दर्शकों को धन्यवाद कहना चाहते हैं। उनकी कप्तानी में चेन्नई की टीम चार बार चैंपियन बनी है।

उन्होंने इस बार सीजन शुरू होने से पहले कप्तान छोड़ दी थी। रवींद्र जडेजा कप्तान बने थे, लेकिन आठ मैच में छह हारने के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। फिर धोनी ही टीम के कप्तान बने।