पेशाब खोलने और सूजन उतारने के लिए रामबाण है अजवायन और धनिये का ये प्रयोग

loading...

अगर पेशाब ना उतरे तो कई समस्याएँ हो सकती है, जिनमे विशेष है किडनी के रोग, सूजन इत्यादि. ऐसे में आप अपनी रसोई से ही ये प्रयोग कर के अपना पेशाब खोल सकते हैं. आइये जान लेते हैं कैसे करें ये अजवायन और धनिये का प्रयोग.

बहुमूत्र का इलाज अजवायन से
अगर बार बार पेशाब आता हो तो 2 ग्राम अजवायन को 2 ग्राम गुड के साथ कूट पीसकर 4 गोलियां बना लो, और हर 3 घंटे के बाद 1 गोली सादा पानी के साथ लें. इस से बहुमूत्र में लाभ होगा. अजवायन और धनिये का प्रयोग

बिस्तर में पेशाब निकलना
जो बच्चे रात को बिस्तर में ही पेशाब कर देते हैं उनको आधा ग्राम अजवायन सादा पानी के साथ दीजये.

किडनी में दर्द हो तो क्या करें.
3 ग्राम अजवायन के चूर्ण को सुबह शाम गर्म दूध के साथ लेने से किडनी में हर प्रकार के दर्द में लाभ होता है.

मूत्र में रुकावट हो तो क्या करे.
अजवायन का प्रयोग.

2 से 4 ग्राम अजवायन को गर्म पानी के साथ लेने से हर प्रकार की मूत्र की रुकावट दूर होती है. अगर मूत्र ना आने से सूजन हो गयी हो तो 10 ग्राम अजवायन को पीसकर लेप बनाकर पेडू पर लगाने से अफारा मिटता है, सूजन कम होती है और खुलकर पेशाब आता है. अजवायन और धनिये का प्रयोग

धनिया का प्रयोग.

रात्री में 1 चम्मच सूखा धनिया एक गिलास पानी में भिगो कर रख दें और सुबह इसी धनिये को इसी पानी के साथ आधा रहने तक धीमी आंच पर उबाल लें. आधा रहने पर इसको छान कर पी लें. इस से मूत्र की रुकावट खुलती है. और बहुत लाभ होता है, ध्यान रहे ये प्रयोग वो लोग ना करें जिनको प्रोस्टेट हो या जिनके अन्डकोशों में सूजन हो, क्यूंकि पेशाब को अगर निकलने का रास्ता नहीं मिलेगा तो स्थिति गंभीर हो सकती है. अजवायन और धनिये का प्रयोग

अब आपको बताते हैं धनिया और अजवायन का प्रयोग जो के रुके हुए पेशाब को खोलने में बहुत ही लाभकारी है.
रात्रि को एक एक चम्मच धनिया और अजवायन दोनों को मिलाकर २ गिलास पानी में भिगो कर रखे दें. सुबह इस पानी को धनिये और अजवायन सहित धीमी आंच पर उबालें, जब यह एक चौथाई रह जाए तो इसको छान कर पी लीजिये. ये प्रयोग पहले एक ही दिन करें. एक दिन करने से आपको पेशाब बहुत जोर और खुल कर आएगा, जिस से अगर शरीर में कहीं सूजन होगी तो वो भी उतर जाएगी. अगर किसी कारण वश पेशाब ना आये तो इस प्रयोग को एक दिन से ज्यादा ना करें अगर करें तो अपने डॉक्टर या वैद से संपर्क कर के ही करें. अजवायन और धनिये का प्रयोग

धनिया के प्रयोग में सावधानी –
धनिया की प्रकृति ठंडी होती है अधिक सेवन करने से जिस से मनुष्य की काम शक्ति प्रभावित होती है, मासिक धर्म रुक जाता है, और दमे की बीमारी हो तो उसमे भी नुकसान हो सकता है, ऐसे में इसके दुष्प्रभाव कम करने के लिए आप शहद और दालचीनी का प्रयोग कर सकते हैं. अजवायन और धनिये का प्रयोग

किडनी के मरीजों को अगर फिर भी पेशाब ना उतरे तो उसके बाद नीचे दिया गया ये प्रयोग ज़रूर पढ़ें और कर के देखिएगा.

loading...