प्रियंका गांधी से मिलने सीतापुर पहुंचे राहुल गांधी, साथ में है 2-2 सीएम

दिल्ली से लखीमपुर के लिए निकले राहुल गांधी, जब काफी कोशिशों के बाद लखनऊ एयरपोर्ट से निकले तो वो सबसे पहले सीतापुर पहुंचे। जहां उन्होंने प्रियंका गांधी से मुलाकात की। राहुल के साथ पंजाब और छत्तीसगढ़ के सीएम में प्रियंका गांधी से मिले। यहां से राहुल, प्रियंका को लेकर लखीमपुर के लिए निकलेंगे।

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी को यूपी सरकार ने लखीमपुर जाने की परमिशन भी दे दी थी, लेकिन जब राहुल गांधी, पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के साथ लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे, तो यूपी पुलिस ने उन्हें एयरपोर्ट पर ही रोक दिया।

जिसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि देख लीजिए यूपी सरकार की परमिशन। यहीं पर राहुल गांधी धरने पर भी बैठ गए। जिसके बाद उन्हें जाने की अनुमति मिल गई।

राहुल गांधी ने एयरपोर्ट पर रोके जाने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि “यूपी सरकार ने मुझे किस तरह की अनुमति दी है? ये लोग मुझे एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दे रहे हैं।”

राहुल गांधी ने प्रशासन से सवाल करते हुए कहा कि आप किस नियम के तहत तय कर रहे हैं कि मैं कैसे जाऊंगा? बस मुझे नियम बताओ।

मामले को आगे बढ़ता देख प्रशासन ने आखिरकार राहुल गांधी को लखीमपुर जाने की इजाजत दे दी। प्रशासन ने राहुल गांधी को पहले निजी गाड़ी से जाने से रोक दिया था, धरने के बाद उन्होंने राहुल गांधी को निजी गाड़ी से जाने की परमिशन दे दी।

राहुल गांधी के साथ पांच सदस्यों के कांग्रेस डेलिगेशन को भी जाने की इजाजत मिल गई है। राहुल पहले सीतापुर जाएंगे, जहां वो प्रियंका गांधी से मिलेंगे फिर वहां से लखीमपुर खीरी के लिए निकल जाएंगे। जहां वो मा’रे गए किसानों के परि’वारों से मुलाकात करेंगे।

एयरपोर्ट पर रोके जाने और फिर जाने की परमिशन मिलने पर कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने ट्वीट कर योगी सरकार पर निशा’ना साधा। उन्होंने कहा- पहले लखनऊ आने से रोका, फिर परमिशन दी, फिर लखनऊ एयरपोर्ट के बाहर निकलने से रोका, फिर अपनी गाड़ी से जाने की परमिशन दी”।

बता दें कि लखीमपुर खीरी हिं’सा में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर किसान संगठनों ने आ’रोप लगाया है कि उनकी गाड़ी किसानों को रौं’द’ती हुई नि’कल गई थी।

जिसनें चार किसानों की मौ’त गई, जबकि कई घा’यल हो गए हैं। इस घटना का वीडियो भी वा’यरल हो रहा है। किसान आशीष मिश्रा की गिर’फ्तारी की मांग कर रहे हैं।