रिश्वत लेने के आरोपी दरोगा साहब को एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने फ़िल्मी अंदाज़ में पकड़ा, विडियो हुआ वायरल

आपने पुलिस को चोर का पीछा करते देखा होगा… लेकिन कर्नाटक की सड़क पर दो पुलिसवाले एक सब-इंस्पेक्टर का पीछा करते नजर आए। दरअसल, दरोगा साहब पर रिश्वत लेने का आरोप था।

जब एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम उन्हें पकड़ने पहुंची तो उन्होंने बचने के लिए सड़क पर दौड़ना शुरू कर दिया। फिर क्या, दरोगा आगे-आगे और करप्शन ब्यूरो वाले पीछे-पीछे। हालांकि, 1 किलोमीटर की भागदौड़ के बाद सब-इंस्पेक्टर को पकड़ लिया गया।

दरोगा पर घूस मांगने का आरोप

‘एनडीटीवी’ की रिपोर्ट के अनुसार, यह मामला कर्नाटक के तुमकुर शहर का है। जहां बुधवार को दो पुलिस अधिकारी एक सब-इंस्पेक्टर को पकड़ने के लिए सड़क पर दौड़ते नजर आए।

दरोगा, सोमशेखर पर घूस मांगने का आरोप था, जिसे करीब 1 किलोमीटर चेज के बाद पुलिस ने जनता की मदद से दबोच लिया। सब-इंस्पेक्टर के अलावा कांस्टेबल, नयाज अहमद को भी अरेस्ट कर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

क्या है पूरा मामला?

जानकारी के मुताबिक, बीते दिनों ‘चंद्रशेखर पुरा पुलिस स्टेशन’ में एक पारिवारिक मुकदमे का मामला दर्ज हुआ था, जिसके बाद वहां की पुलिस ने चंद्रन्ना नाम के व्यक्ति का वाहन जब्त कर लिया।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by NDTV (@ndtv)

एसआई सोमशेखर ने कथित तौर पर कांस्टेबल को उस व्यक्ति की गाड़ी छोड़ने के लिए घूस में 28,000 रुपये लेने का निर्देशदिया था। लेकिन चंद्रन्ना ने एंटी करप्शन ब्यूरो से इसकी सूचना दे दी।

कैसे खुली SI की पोल?

चंद्रन्ना ने कांस्टेबल को 12,000 रुपये दिए, जिसके बाद एंटी करप्शन ब्यूरो टीम ने कांस्टेबल को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। फिर कांस्टेबल ने बताया कि सब-इंस्पेक्टर ने उसे घूस लेने को कहा था।

जब टीम थाने पहुंची तो सब-इंस्पेक्टर ने तुरंत दफ्तर से भाग निकला। टीम ने उसे पकड़ने के लिए पीछा करना शुरू किया और बाद में पुलिस स्टेशन के नजदीक सड़क पर पकड़ लिया।