शिवराज के मंत्री से बढ़ती पेट्रोल की कीमतों पर सवाल, तो कहा: ‘कमलनाथ से करिये सवाल…’

पेट्रोल-डीजल व खाद्य तेलों की बढ़ती कीमतों पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह सवाल पूर्व सीएम कमलनाथ से पूछना चाहिए। उन्होंने कहा कि वैट की दरों को हमारी सरकार ने नहीं बढ़ाया था। कमलनाथ को घेरते हुए उन्होंने कहा कि उनके घोषणा पत्र में पेट्रोल डीजल की कीमतों को कम करने की बात थी।

नरोत्तम मिश्रा के बयान पर ट्विटर यूजर्स ने भी प्रतिक्रिया भी दी है। बीनू ने लिखा, बीजेपी में भी सब के सब नमूने भरे पड़े हैं। प्रजय सिंह बघेल लिखते हैं कि इन नेताओं से सिलेबस के बाहर का प्रश्न मत पूछा करो।

शैलेश ने लिखा कि आप सरकार में किसलिए हैं? फरीद हुसैन लिखते हैं कि चलो कम से कम नरोत्तम मिश्रा कमलनाथ तक ही सीमित रहे, वरना इनकी पार्टी तो सीधे नेहरू जी तक चली जाती है।

जगजीत सिंह ने लिखा, एक से एक महान विभूतियां भारतीय राजनीति में हैं। एमएच खान ने लिखा कि पिछली सरकारों पर ही दोष देकर इनकी रोटियां सिक रही हैं। मंत्रीजी अब तो सरकार आपकी है या अब भी नेहरू जी देश चला रहे हैं?

ज्ञानेंद्र लिखते हैं कि कमलनाथ के समय बढ़ाए हुए टैक्स का असर भाजपा के जमाने में हो रहा है। निश्चित तौर पर भाजपाई नेताओं को मनोचिकित्सकों की आवश्यकता है।

भाजपा नेताओं को कुछ समझ में ही नहीं आ रहा है तो घबराहट में कुछ भी कहे जा रहे हैं। सत्येंद्र कुमार लोधी ने लिखा, मैं तो सोच रहा था कि यह कहेंगे कि तेल की खदान नेहरू ने नहीं खुदवाई तो हम क्या करें।

मोहम्मद शाहिद सिद्धकी ने लिखा कि अगली बार जब बीजेपी के नेता वोट मांगने आएंगे तो उनको भी यही जवाब दिया जाएगा। गौरतलब है कि देश में पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। प्रदेश की राजधानी भोपाल में पेट्रोल के दाम 118 रुपए प्रति लीटर को पार कर गए हैं, वहीं बालाघाट जिले में यह 120 रुपए के ऊपर चला गया है।