Home old गोदी मीडिया के पत्रकार को लाइव टीवी पर राकेश टिकैत ने जमकर...

गोदी मीडिया के पत्रकार को लाइव टीवी पर राकेश टिकैत ने जमकर धोया, कहा: ‘आप बीजेपी से हो या…’

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत ने दिवाली के अवसर पर किसानों से अपील की है कि वो दो दीया उन किसानों की याद में भी जला दें जो लंबे समय से चले आ रहे आंदोलन में शहीद हुए है।

किसान आंदोलन को एक साल पूरे होने को आए हैं लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार की तीन कृषि कानूनों को लेकर अभी तक सरकार और किसानों के बीच कोई सहमति नहीं बन पाई है। राकेश टिकैत लगातार कहते आए हैं कि जब तक कानून वापस नहीं होंगे किसान घर नहीं जाएंगे।

इसी मुद्दे पर नवभारत टाइम्स ऑनलाइन के डिबेट शो, ‘न्यूज़ की पाठशाला’ में राकेश टिकैत ने कहा कि वो दिवाली भी दिल्ली के बॉर्डर पर ही मनाएंगे। शो के एंकर सुशांत सिन्हा ने उनसे शो में पूछा, ‘आप देश के प्रधानमंत्री को मानते हैं? पहले ये बताइए।’ उनके सवाल के जवाब में राकेश टिकैत ने कहा, ‘हम तो मानते हैं तभी तो कह रहे हैं।’

टिकैत के इस जवाब पर सुशांत सिन्हा ने फिर सवाल किया, ‘फिर देश के प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि आप आइए और बात कर लीजिए। आपके पास संसद के बाहर मंडी लगाने की फुर्सत है, जाकर बात करने की फुर्सत नहीं है।’

राकेश टिकैत ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘नहीं, नहीं आप बात करा दो, आप बन जाओ हमारे बिचौलिए।’ जब सुशांत सिन्हा उनकी बातों के बीच में ही बोलने लगे तब टिकैत ने कहा, ‘पूरी बात मत बोलने दो, आप भी बीच में बात काटो।’

सुशांत सिन्हा कह रहे थे, ‘आप देश में घूम-घूम कर बीजेपी को वोट मत दो, कह सकते हैं। जाकर कृषि मंत्री से बात नहीं कर सकते? आप जाइए और बैठ जाइए वहां।’ उनकी इस बात पर नाराज राकेश टिकैत ने कहा, ‘आप बीजेपी की तरफ से हो या प्रेस की तरफ से हो? ये बीजेपी वाली भाषा बोल रहे हो।’

जब एंकर ने कहा कि वो किसानों की तरफ से हैं तब टिकैत ने जवाब दिया, ‘फिर सुन लो, वो कहते हैं कि कानून वापसी पर कोई बात नहीं होगी। संशोधन पर कोई बात करनी हो तो धरना ख़त्म करके बातचीत कर लो।

अब बताओ, मतलब कानून तो वापसी होगा नहीं। किताब में उन्होंने लिख लिया और किसान तो जाकर वहां साइन कर आए। तो ऐसा तो देश में नहीं होगा। हम साइन करने नहीं जाएंगे। देश का किसान न कमज़ोर था, है और न रहेगा।’

Previous articleअफगानिस्तान को हराने के साथ वर्ल्ड कप में बने रहने के लिए भारतीय टीम को करनी होगी ये 3 चीजे
Next article13 साल की कश्मीरी लड़की ने रचा इतिहास, दूसरी बार बनी विश्व विजेता, देश का नाम किया रोशन