अमीर घर की बहू घर चलाने के लिए ठेला लगाकर बेचती हैं ‘छोले कुल्चे’ – संघर्ष की कहानी

सड़क किनारे किसी ठेले पर खाने का सामान बेचने वाले व्यक्ति को देखकर अक्सर आपको लगता होगा कि उसके पास दो वक़्त की रोटी कमाने के लिए पर्याप्त साधन नहीं है। यह बात काफ़ी हद तक सही भी है क्योंकि रोज़गार न मिलने की स्थिति में अक्सर व्यक्ति को ज़रूरत से ज़्यादा मेहनत और समय … Read more