यूपी: चुनाव से पहले मायावती को बड़ा झटका, बसपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने थामा आखिलेश का हाथ, साथ में आये ये दिग्गज नेता भी

उत्तर प्रदेश में चुनाव होने हैं. यूपी के विधानसभा चुनाव में अब छह महीने से भी कम का समय बचा है, ऐसे में नेताओं का पर्यटन यानी दल-बदल का सिलसिला भी शुरू हो चुका है.

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा ने भी पार्टी छोड़ दी है. आरएस कुशवाहा रविवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए. कुशवाहा के साथ ही पूर्व सांसद कादिर राणा और राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रदेश अध्यक्ष हरि किशोर तिवारी ने भी सपा का दामन थाम लिया.

सपा में शामिल होने के बाद आरएस कुशवाहा ने बसपा पर खूब भड़ास निकाली. साथ ही सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर भी जमकर बरसे. कुशवाहा ने कहा कि आज अपने तमाम साथियों के साथ सपा में शामिल हो रहा हूं.

सपा की विचारधारा को स्वीकार करते हुए आज हम पार्टी के साथ आ रहे हैं. उन्होंने दावा किया कि आज सभी मौके की तलाश में हैं कि कब उन्हें मौका मिले और सपा की सरकार बनवा दें.

कुशवाहा ने कहा कि बसपा के साथ मैंने 30 साल तक काम किया लेकिन जो बाबा साहेब का नारा था, पार्टी आज अपने उस मूल विचार से भटक गई है. इसीलिए आज एक-एक करके सभी पुराने साथी दुखी होकर सपा में आ रहे हैं.

उन्होंने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा. कुशवाहा ने लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर भी सरकार को घेरा.

आरएस कुशवाहा ने कहा कि ये जो जुमलेबाजों की सरकार चल रही है, जिन्होंने बड़े-बड़े दावे किए थे लेकिन पिछले पांच साल की यूपी सरकार हो या केंद्र की सरकार, कहीं कोई वादे पूरे होते नजर नहीं आ रहे हैं.

उन्होंने लखीमपुर की घटना को लेकर आ’लोचना करते हुए कहा कि वहां से विधायक रहा हूं. आज सभी लोग त्र’स्त हैं. किसानों पर गा’ड़ी च’ढ़ा दी गई.